भारत में फॉरेक्स ट्रेड करने का सबसे सही समय

आपके ट्रेडिंग परिणाम कई बातों पर निर्भर करते हैं। उनमें से एक है, दिन का वह समय, जब आप ट्रेड करते हैं। यह लेख आपको लाभदायक फॉरेक्स ट्रेडस के लिए एक सर्वोत्तम शेड्यूल बनाने में और भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए सर्वोत्तम समय खोजने मे मदद करने के लिए है ।

भारत में फॉरेक्स ट्रेड करने का सबसे सही समय

भारत में फॉरेक्स ट्रेड करने का सबसे सही समय क्या है

शुरू करते हुए, आइए फॉरेक्स मार्केट के लाभों में से एक लाभ को देखें। स्टॉक के विपरीत, FX करेंसी पेयर्स का ट्रेड, सप्ताह में पांच दिन चौबीसों घंटे किया जा सकता है। इसका मूल रूप से मतलब यह है कि आप अपना लैपटॉप कभी भी खोल सकते हैं और सोमवार से शुक्रवार, किसी भी समय, रात हो या दिन हो , ट्रेड कर सकते हैं। लेकिन क्या आपको यह करना चाहिए? नहीं। हालांकि मार्केट 24/5 खुली है, लेकिन लाभ की संभावना सारे दिन भर एक समान नहीं होती है। मार्केट उन सक्रिय घंटों के लिए जाना जाता है जब अधिकांश करेंसी पेयर्स की कीमत अत्यधिक अस्थिर होती है। अस्थिरता मूल्य परिवर्तन को कहा जाता है। कीमत जितनी अधिक गतिशील होगी, आपको मिलने वाले उच्च-लाभ की संभावना उतनी ही अधिक होगी। इस प्रकार, उच्च अस्थिरता जल्दी लाभ के लिए बहुत सारे अवसर प्रदान करती है।

और पढ़ें: क्या फॉरेक्स मे निवेश करना योग्य है

अपने करेंसी पेयर मे ट्रेड करने का सबसे सही समय

मार्केट की चौबीसों घंटे उपलब्धता के पीछे का कारण यह है कि दुनिया के विभिन्न देशों के फाइनेंशियल सेक्टर्स अपने-अपने शेड्यूल के अनुसार काम करते हैं। टाइम ज़ोन में अंतर के कारण, जब अमेरिका में बैंक खुले होते हैं, तब भारत में बैंक बंद हो जाते हैं । उसी प्रकार से, भारत के नियमित कामकाजी घंटों के दौरान भारतीय रुपया अधिक अस्थिर होता है। इसके विपरीत, अमेरिकी डॉलर दिन के बाद के घंटों में अधिक अस्थिर होता है। इस आधार पर, हम यह निष्कर्ष निकालते हैं कि ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा समय आपके द्वारा ट्रेड किए जाने वाले इंस्ट्रूमेंट (करेंसी पेयर) द्वारा पूर्व निर्धारित होता है। आप दुनिया के प्रमुख फाइनेंशियल सेंटर्स और संबंधित ट्रेडींग सेशन्ज़ का विस्तृत शेड्यूल नीचे देख सकते हैं:

ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा समय आपके द्वारा ट्रेड किए जाने वाले इंस्ट्रूमेंट (करेंसी पेयर) द्वारा पूर्व निर्धारित होता है।

क्षेत्र ओपनिंग इंडियन स्टैंडर्ड टाइम (आईएसटी) क्लोज़िंग इंडियन स्टैंडर्ड टाइम (आईएसटी)
वेलिंगटन (पसिफिक सेशन) 03:30 am 10:15 am
सिडनी (पसिफिक सेशन) 5:30 am 12:30 pm
टोक्यो (एशियाई सेशन) 5:30 am 2:30 pm
हांगकांग और सिंगापुर (एशियाई सेशन) 6:30 am 2:30 pm
फ्रैंकफर्ट (यूरोपीय सेशन) 11:30 am 7:30 pm
लंदन (यूरोपीय सेशन) 12:30 pm 8:30 pm
न्यूयॉर्क (नॉर्थ अमेरिकी सेशन) 5:30 pm 2:30 am

भारत में फॉरेक्स मार्केट के खुलने का समय

फॉरेक्स ट्रेडिंग की सफलता समय पर कैसे निर्भर करती है?

यह स्पष्ट है कि सबसे सक्रिय घंटों के दौरान ट्रेडिंग करने से आपको स्वचालित रूप से कोई लाभ नहीं होगा। बल्कि, अगर रणनीति खराब है तो इससे बड़ा नुकसान भी हो सकता है। सक्रिय घंटों के दौरान ट्रेडिंग करने का मुख्य कारण यह है कि एक सफल ट्रेड आपको "शांत"घंटों के दौरान किए गए ट्रेड से ज्यादा पिप्स दे सकता है। मान लीजिए कि आप अस्थिर घंटों के दौरान एक ट्रेड करते हैं और कीमत 50 पिप्स बढ़ जाती है। तो यह परिणाम उन घंटों के अलावा व्यावहारिक रूप से असंभव है। इसके अलावा, हाइ ऐसेट लिक्विडिटी से स्प्रेड्स टाइट होते हैं और लेन-देन लागत कम हो जाती है।

भारत में फॉरेक्स ट्रेड करने का सबसे सही समय

EUR/USD की उच्च अस्थिरता

सामान्य नियम के हिसाब से, सबसे सक्रिय ट्रेडिंग के घंटे दो ट्रेडिंग सेशन्ज़ के ओवरलैप के दौरान होते हैं, विशेष रूप से यूरोपीय और नॉर्थ अमेरिकी सेशन्ज़ के ओवरलैप के दौरान। चूंकि ट्रेड मे अमेरिकी डॉलर सबसे बड़ी मात्रा में या तो बेस या क्वोटिड करेंसी के रूप में शामिल होते है, अमेरिकी मार्केट मूल रूप से आपके द्वारा ट्रेड की जाने वाली किसी भी चीज़ पर अत्यधिक प्रभावशाली है। यदि आप EUR/USD और GBP/USD के रूप में ऐसे करेंसी पेयर्स का ट्रेड करते हैं, तो आपको शाम 5:30 बजे से 8:30 बजे के बीच ट्रेडिंग शेड्यूल करने पर विचार करना चाहिए। यह वह समय है जब अमेरिकी और यूरोपीय दोनों मार्केट सक्रिय होते हैं।

यदि आप किसी ऐसे करेंसी पेयर का ट्रेड करते हैं जिसमें USD या CAD शामिल नहीं हो, तो फिर दूसरे ट्रेडिंग सेशन्ज़ पर ध्यान देना बेहतर हो सकता है। उदाहरण के लिए, टोक्यो और लंदन सेशन्ज़ का ओवरलैप (दोपहर 12:30 से दोपहर 2:30 बजे तक) GBP/JPY ट्रेडिंग के लिए अच्छा है। वह समय जब न्यूजीलैंड और जापान में करेंसी एक्स्चेन्ज होती है (सुबह 5:30 से 8:30 बजे तक) NZD/JPY ट्रेडिंग के लिए एकदम सही है। इसके साथ साथ, हम आपके द्वारा ट्रेड किए जाने वाली करेंसी पेयर के लिए एक ट्रेडिंग शेड्यूल को बनाने के महत्व पर जोर देते हैं।

भारत में फॉरेक्स ट्रेड करने का सबसे सही समय

सुझाव

  • फॉरेक्स ट्रेडिंग करना बहुत सारे प्रश्न उठा सकता है। इसलिए दिन में किसी भी समय उन सवालों का जवाब देने के लिए किसी का होना अच्छा है। इसलिए, हम आपको भारत में एक फॉरेक्स ब्रोकर खोजने की सलाह देते हैं जो 24/7 ग्राहक सहायता सेवाएं प्रदान करता हो।
  • ट्रेडिंग अनुशासन के साथ की जानी चाहिए; अन्यथा, उसके लाभदायक होने की संभावना नहीं होती है। इसलिए आप चाहे जिस भी समय ट्रेड करें, इसे नियमित करें और कोशिश करें कि शेड्यूल से विचलित न हों।

और पढ़ें: 2021 में बिगिनर्स के लिए फॉरेक्स ट्रेडिंग

निष्कर्ष

सबसे सक्रिय FX घंटों के अनुसार शेड्यूल बनाना ट्रेडिंग परिणामों को बहुत बढ़ा सकता है। मार्केट में उच्च गतिविधि करेंसी की उच्च लिक्विडिटी के साथ-साथ कम स्प्रेड्स की गारंटी भी देती है। यही कारण है कि अधिकांश ट्रैडर्स यूरोपीय और नॉर्थ अमेरिकी सेशन्ज़ (शाम 5:30 से 8:30 बजे तक) के ओवरलैप के दौरान ट्रेड करना पसंद करते हैं। स्थानीय करेंसी पेयर्स की ट्रेडिंग के लिए, जिसमें अमेरिकी डॉलर शामिल नहीं है, पैसिफिक और एशियाई ट्रेडिंग सेशन्ज़ एक अच्छा विकल्प हो सकते है।

JustMarkets के बारे में

JustMarkets विश्व का विश्वसनीय ब्रोकर है जो 180 लोकप्रिय ट्रेडिंग उपकरण प्रदान करता है। JustMarkets पर ट्रेडिंग खाता बनाने से, आपको कई लाभ होते हैं, जिनमें उच्च लेवरेज, कम स्प्रेड (0.0 पिप्स से शुरू), साथ ही साथ कमीशन-मुक्त जमा और निकासी शामिल हैं। और यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो आपके ट्रेडिंग अनुभव को सुविधाजनक बनाए रखने के लिए, चौबीसों घंटे काम करने वाली सहायता टीम है।

JustMarkets पर डेमो अकाउंट खोलकर करेंसी ट्रेडिंग में अपना हाथ आजमाएं। यह सबसे अधिक लिक्विड फाइनेंशियल मार्केट में ट्रेडिंग में महारत हासिल करने का एक तेज़ और जोखिम मुक्त तरीका है। एक अभ्यास अकाउंट आपको ट्रेडिंग की मूल बातें सीखने और पैसा निवेश करने से पहले एक रणनीति विकसित करने में मदद करेगा। अपने कल का भविष्य संवारने के लिए आज ही ट्रेडिंग शुरू करें।

लेखक: JustMarkets, 15.07.2021

पिछले लेख
सभी लेख
कॉपी ट्रेडिंग का परिचय: फॉरेक्स और अन्य बाजारों में कॉपी ट्रेडिंग कैसे काम करती हैा होना चाहिए
इस गाइड को अच्छे से पढ़े और जानें कि शुरू से अंत और उससे भी आगे के व्यापार को कैसे कॉपी करें। बुनियादी बातों से लेकर तकनीकी और युक्तियों तक, इस ट्रेडिंग रणनीति को विस्तार से समझाया गया है, ताकि आप पूरी जानकारी।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
सोशल ट्रेडिंग: यह क्या है और इसके जरिए पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं
सोशल ट्रेडिंग- क्या यह फॉरेक्स ट्रेडिंग में एक नया ट्रेंड है या केवल एक बज़वर्ड? क्या यह मुनाफे वाला है? सोशल ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म कौन सा है?
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
सोशल ट्रेडिंग vs. कॉपी ट्रेडिंग
सोशल ट्रेडिंग और कॉपी ट्रेडिंग: दोनों में क्या फर्क है? एक आर्टिकल के ज़रिए समझने में सरल और आसान, फायदे और नुकसान और सबसे बेहतरीन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें