Justmarkets | JUST COMFORTABLE TRADING

क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें और बेचें

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

बिटकॉइन की कीमत में जबरदस्त बढ़ोतरी को देखते हुए, ज़्यादा से ज़्यादा लोग क्रिप्टोकरेंसी (क्रिप्टो) में निवेश करने का सोच रहे हैं। अगर आप उन में से एक हैं, तो क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग के बारे में अधिक जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़ें।

मुख्य पॉइंट्स

  • क्रिप्टोकरेंसी या क्रिप्टो एक डिजिटल करेंसी है जो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी द्वारा बनाए गए डिसेंट्रलाइज़्ड सिस्टम के माध्यम से काम करती है।
  • फिएट करेंसी के विपरीत, क्रिप्टोकरेंसी अनियमित है और विशेष रूप से ब्लॉकचैन प्रोटोकॉल्स द्वारा संचालित है।
  • क्रिप्टोकरेंसी बहुत अस्थिर हैं लेकिन बहुत हाई रिटर्न्स भी प्रदान करती है।
  • सबसे मुख्य क्रिप्टोकरेंसी जोखिम बढ़ी हुई अस्थिरता और स्टोरेज सुरक्षा से जुड़े हुए हैं।

2021 तक, हजारों क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध हैं। और आपने कईयों का नाम भी सुना होगा जैसे - बिटकॉइन, एथेरियम और रिपल। ये सभी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर निर्भर हैं, जो सरकार द्वारा विनियमित नहीं हैं और एक डिसेंट्रलाइज़्ड करेंसी सिस्टम के आधार के रूप में काम करते हैं। क्रिप्टोकरेंसी अमूर्त (इंटेंजिबल) एसेट्स हैं। तो मूल रूप से, जब आप क्रिप्टो खरीदते हैं तो आपको लेजर में रिकॉर्ड की गई ओनरशिप मिलती है।

क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें और बेचें

क्रिप्टोकरेंसी के फायदे

आइए कुछ कारणों को देखें कि क्रिप्टो खरीदना क्यों फायदेमंद साबित हो सकता है।

  • बहुत हाई रिटर्न्स
    ज़रा इसके बारे में सोचें, 2013 में 1000 डॉलर में खरीदे गए बिटकॉइन की कीमत आज 400,000 डॉलर से भी ज़्यादा है। बिटकॉइन ट्रेडिंग के आकर्षक परिणाम यह उम्मीद जगाते हैं कि अन्य, नई और सस्ती, क्रिप्टोकरेंसी भी बहुत आगे जाएंगी। जब माइक्रो स्ट्रेटेजी और स्क्वायर जैसे कॉर्पोरेशंस क्रिप्टो में निवेश करते हैं, तो यह इस डिजिटल एसेट के उदय में और भी उत्साह और विश्वास लाता है।
  • उपयोगकर्ता स्वायत्तता (यूजर ऑटोनोमी)
    क्रिप्टोकरेंसी अनियमित हैं, जिसका मतलब है कि यह फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस पर उतनी निर्भर नहीं है जितनी कि फिएट कर्रेंसीस पर। थ्योरी के हिसाब से कहा जाए तो, इसका मतलब है कि क्रिप्टो उपयोगकर्ताओं को अपने फंड को संभालते समय बैंकों और सरकार से निपटने की ज़रूरत नहीं है।
  • हेज के खिलाफ इन्फ्लेशन
    बिटकॉइन जैसी कर्रेंसीस की एक सीमित मात्रा होती है, जो उन्हें इन्फ्लेशन से बचाती है। वे इस तरह से डिज़ाइन किए गए हैं कि अधिक कोइन्स जारी करने की सुविधा नहीं है।
  • आसानी से ट्रेडिंग की शुरुआत करना
    पहचान को वेरीफाई करने पर कम समय बिताने के बाद, प्रैक्टिकल रूप से कोई भी क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडों में शामिल हो सकता है। इसकी शुरुआत करने के लिए बस आपके पास एक इंटरनेट कनेक्शन और कुछ पैसे होने चाहिए।

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग (निवेश) चरण

क्रिप्टोकरेंसी का व्यापार कैसे किया जाता है, इसके बारे में और अधिक स्पष्ट जानकारी, नीचे क्रिप्टो एक्वीजीशन प्रोसेस के पाँच बेसिक चरणों के बारे में पढ़ें।

  • एक रणनीति चुनें

    एक रणनीति चुनकर या सिर्फ यह तय करके कि आप डिजिटल करेंसी में निवेश करना चाहते हैं या व्यापार करना चाहते हैं, क्रिप्टोकरेंसी को जानने की शुरुआत करें। जबकि निवेश का मतलब लंबे समय के लिए किसी एसेट के अधिग्रहण से है, ट्रेडिंग प्राइस मूवमेंट्स पर छोटी-छोटी अटकलें हैं, जब एक ट्रेडर कई ट्रांजेक्शंस करता है, ताकि कम समय में अधिक लाभ मिल सके।

    आप जो रणनीति चुनते हैं उसके आधार पर, आप कोइन्स को स्टोर करने के तरीके के बारे में निर्णय ले सकते हैं। निवेश करने के लिए कोल्ड वॉलेट्स सबसे अच्छा तरीका है। कंप्यूटर या USB फ्लैश ड्राइव में क्रिप्टोकरेंसी को रखना अधिक सुरक्षित माना जाता है ताकि कोई भी क्रिप्टो को सीधे एक्सेस किए बिना चोरी न कर सके। इस तरह की स्टोरेज मेथड में कमी यह है कि रैपिड डेप्रिसिएशन के दौरान एसेट को बेचने में अधिक समय लगता है।

    अगर आप ट्रेड करने के इच्छुक हैं, तो आपके लिए एक्सचेंज सबसे अच्छा रहेगा। एक्सचेंज आपको किसी भी समय क्रिप्टोकरेंसी खरीदने और ट्रेड करने की अनुमति देते हैं। कुछ एक्सचेंजों पर, आप क्रिप्टोकरेंसी में डिपॉजिट कर सकते हैं या स्टेकिंग फंक्शन का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिससे आप कोइन्स को स्टोर करने के लिए पैसिव इनकम प्राप्त कर सकते हैं। हालाँकि, एक्सचेंजों पर फंड रखना जोखिम भरा है। एक्सचेंजों के हैक होने और फंड चोरी होने के कई सबूत मिले हैं। अपने फंड की सुरक्षा के लिए आप जो कदम उठा सकते हैं, वे हैं एक भरोसेमंद एक्सचेंज चुनना और अपने कोइन्स को एक सॉफ्टवेयर वॉलेट में विड्रॉ करना।

  • एक एक्सचेंज चुनें

    एक्सचेंज चुनते समय, नीचे दिए गए सवालों के जवाब ढूंढ़ना सुनिश्चित करें:

    • क्या कोई एक्सचेंज आपके देश के उपयोगकर्ताओं को स्वीकार करता है?
    • यह कौनसी पेमेंट मेथड स्वीकार करता है?
    • इसमें कितनी फीस लगती है (डिपॉजिट/ट्रांजेक्शन/विड्रॉवल फीस)?
    • एक्सचेंज रेट क्या है?
    • खरीदारी की सीमाएं क्या हैं?
    • एक्सचेंज की प्रतिष्ठा क्या है?

    यह आपके हित में है कि आप एक ऐसा एक्सचेंज ढूंढें जो सबसे अधिक लाभकारी स्थितियां और सबसे सुरक्षित ट्रांजेक्शन प्रदान करता हो। अगर कोई एक्सचेंज आपके देश के उपयोगकर्ताओं को स्वीकार नहीं करता है या सुविधाजनक पेमेंट मेथड को सपोर्ट नहीं करता है, तो ढूंढ़ते रहें। इसके अलावा, फीस और एक्सचेंज रेट्स को देखना याद रखें। कुछ एक्सचेंजों में कम फीस होती है, जिसका कभी-कभी मतलब होता है कि फीस का कुछ हिस्सा एक्सचेंज रेट में छिपा होता है। खरीदने की सीमा आपके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली पेमेंट मेथड और आपके आइडेंटिटी वेरिफिकेशन पर निर्भर करती है। आखिर में, एक्सचेंज की प्रतिष्ठा की जांच करना न भूलें। इस क्षेत्र में आप कम से कम रिव्यूज पढ़ सकते हैं। एक एक्सचेंज साइट के लिए साइन अप करने और रजिस्ट्रेशन पूरा करने के लिए, आपको अक्सर अपनी पहचान, पता और कभी-कभी इनकम के सबूत की पुष्टि करनी होगी।

  • अपने निवेश की साइज तय करें

    अगला कदम जो हम आपको लेने की सलाह देते हैं, वह यह है कि आपको निर्धारित करना चाहिए कि आपको कितने पैसे क्रिप्टोकरेंसी में रखने हैं। किसी भी तरह के निवेश के साथ, हम आपको सलाह देते हैं कि इसमें अपने 100% पैसे न लगाएं। एक अतिरिक्त कारक जो इसे खतरनाक बनाता है वह यह है कि क्रिप्टोकरेंसी बेहद अस्थिर और जोखिम से भरी हुई है। कुछ लोग अपने कुल फंड्स का 5% रखना चुनते हैं, और कुछ 20% रखना चुनते हैं। सबसे मुख्य नियम बिल्कुल सीधा है – उतने ही पैसों का जोखिम उठाएं जितनी आपमें पैसे गंवाने की शक्ति हो।

  • ट्रेड करें

    रजिस्ट्रेशन और आइडेंटिटी वेरिफिकेशन प्रोसेस पूरी करने के बाद आप क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते हैं। आप इसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के ज़रिये कर सकते हैं जो आपको कई पेमेंट सिस्टम्स जैसे कि पेपाल या बैंक कार्ड का इस्तेमाल करके कोइन्स खरीदने की अनुमति देता है।

    चाहे आप कोई भी रणनीति चुनें, लेकिन आपको कीमत कम होने पर खरीदना चाहिए और अधिक होने पर बेचना चाहिए। खरीद और बिक्री के लिए संभावित रूप से अच्छा समय निर्धारित करना काफी मुश्किल है क्योंकि इंस्ट्रूमेंट नया और बहुत अस्थिर है। फिर भी, कीमत के कम होने का इंतजार करना और फिर उसके बाद खरीदना एक अच्छा आईडिया है। एंट्री के लिए सबसे अच्छा समय ढूंढने के लिए टेक्निकल और फंडामेंटल एनालिसिस देखें।

  • अपने कोइन्स को अपने वॉलेट में ट्रांसफर करें (ऑप्शनल)

    सुरक्षा उद्देश्यों के कारण, यह सलाह दी जाती है कि क्रिप्टोकरेंसी को एक्सचेंज पर न रखें बल्कि उन्हें अपने वॉलेट में ट्रांसफर कर दें। कई सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर वॉलेट्स उपलब्ध हैं। हार्डवेयर वॉलेट्स को सबसे सुरक्षित माना जाता है और बड़े फंड्स और/या लंबी अवधि के निवेश के लिए इनकी सलाह दी जाती है। दूसरी ओर, सॉफ्टवेयर वॉलेट अधिक फ्लेक्सिबिलिटी और आसानी से ट्रांजेक्शन करने की सुविधा प्रदान करते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना एक अच्छा आईडिया है?

बिटकॉइन की जबरदस्त बढ़ोतरी ने एक पैटर्न दिखाई है जिससे उम्मीद है कि अन्य डिजिटल कर्रेंसीस भी इसी तरह आगे बढ़ेंगी। इसके अतिरिक्त, क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले बड़े कॉर्पोरेशन और सेंट्रल बैंक्स द्वारा अपनी डिजिटल कर्रेंसीस बनाने के बारे में मूलभूत समाचार इन नए तरह के पैसों की सराहना में योगदान करते हैं। फिर भी, क्रिप्टोकरेंसी के भविष्य के बारे में कोई भी एकमत दृष्टिकोण नहीं है। कोई भी निश्चित रूप से यह नहीं बता सकता है कि क्या क्रिप्टो की कीमत में वृद्धि होगी या बिटकॉइन जैसी करेंसी एक दिन गायब हो जाएगी। लेकिन अगर आपको लगता है कि भविष्य टेक्नोलॉजी और क्रिप्टो में है, तो इसमें निवेश करना एक अच्छा विचार हो सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीदें और बेचें
बिटकॉइन की कीमत में वृद्धि (जून 2020 – अप्रैल 2021)

क्रिप्टोकरेंसी इतनी मशहूर क्यों हैं?

अन्य तरह के एसेट्स से अधिक क्रिप्टो के कई फायदे हैं। उन में से कुछ जो उन्हें विशेष रूप से मशहूर बनाते हैं वह है इसकी कम ट्रांजेक्शन फीस, खरीदने में आसानी और अच्छे प्रॉफिट की संभावना। एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि क्रिप्टो एक प्रमुख तकनीकी नवाचार का प्रतिनिधित्व करता है जो कि ओवर-रेग्यूलेशन और इन्फ्लेशन सहित फिएट कर्रेंसीस के सामने आने वाली समस्याओं को संबोधित करता है।

क्या क्रिप्टोकरेंसी कानूनी हैं?

हालाँकि क्रिप्टो को कंट्रोल में लाने की कई कोशिशें की गई हैं, लेकिन इसे इस तरह से डिज़ाइन किया गया है जो इसे अनियमित रखता है और परिणामस्वरूप कानूनी निविदा (लीगल टेंडर) के रूप में इस्तेमाल करना मुश्किल बनाता है। आज तक, क्रिप्टोकरेंसी के दृष्टिकोण अलग-अलग देशों में अलग-अलग हैं। जबकि कुछ राज्य अपने वैधीकरण की दिशा में आगे बढ़ते हैं, अन्य कुछ उन्हें पूरी तरह या आंशिक रूप से प्रतिबंधित करने का विकल्प चुनते हैं, क्योंकि उन्हें डर होता है कि यह तकनीक मनी लॉन्ड्रिंग में योगदान देगी। अगर आप क्रिप्टोकरेंसी खरीदने की सोच रहे हैं, तो यह चेक ज़रूर करें कि इस तरह के एसेट्स पर आपके देश ने कोई प्रतिबंध लगाया है या नहीं।

कौन सी क्रिप्टोकरेंसी खरीदें?

किसी भी तरह के निवेश की तरह, क्रिप्टो चुनते समय पहली चीज जो हर कोई देखता है वह है संभावित लाभ। आज की तारीख में, सबसे मशहूर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन, एथेरियम, रिपल और लाइटकॉइन हैं। इसके अलावा, अन्य कम जाने-पहचाने लेकिन उच्च क्षमता वाले कोइन्स हैं। उनमें से कोई भी 100% सफलता की गारंटी नहीं देता है। आप लिस्ट में से कुछ के बारे में पढ़ सकते हैं और तय कर सकते हैं कि आपके लिए कौनसा सबसे बेहतर रहेगा। आप संबंधित कंपनियों और फंडामेंटल डेटा के बारे में पढ़ सकते हैं – आपको मिलने वाली कोई भी जानकारी आपकी मदद कर सकती है।

ट्रेडिंग की सबसे आम गलतियां कौनसी हैं?

क्रिप्टो ट्रेडिंग से जुड़ा हुआ जो सबसे बड़ा जोखिम है वह है अस्थिरता। क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में उतार-चढ़ाव लगभग किसी अन्य इंस्ट्रूमेंट की तरह नहीं होती है। और इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपकी क्रिप्टोकरेंसी की कीमत कम नहीं होगी। हालाँकि, सबसे आम गलती जो लोग करते हैं वह है भावनाओं में आकर बेचना जब अचानक कीमत में गिरावट आती है।

एक और संभावित जोखिम जो इसमें होता है वह है हैकिंग। बाजार में साइबर सिक्योरिटी की समस्याएं सुनाई दे रही हैं जिससे क्रिप्टो फंड्स का नुकसान हो सकता है। इसलिए, अगर आप किसी ट्रेड में जाने का निर्णय लेते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप अपने निवेश की सुरक्षा के लिए सही कदम उठा रहे हैं। इनमें एक भरोसेमंद एक्सचेंज चुनना और एक सुरक्षित वॉलेट बनाना शामिल है।

निष्कर्ष

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग में कई नुकसान हैं। इस बाजार की बुनियादी समझ के बिना, क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग शुरू करना बहुत जोखिम भरा है और आप हर कदम पर पैसे गंवा सकते हैं: खरीदना, स्टोर करना, और बेचना। इस वजह से क्रिप्टो में ट्रेडिंग और निवेश करने के लिए बहुत अधिक सतर्कता की आवश्यकता होती है। क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने के लिए सबसे अच्छे कदम उठाने के लिए आपको एक्सचेंज प्लेटफॉर्म का सावधानीपूर्वक चयन करना होगा और कुशल स्टोरेज मेथड्स को चुनना होगा।

लेखक: JustMarkets, 28.08.2021

पिछले लेख
सभी लेख
कॉपी ट्रेडिंग का परिचय: फॉरेक्स और अन्य बाजारों में कॉपी ट्रेडिंग कैसे काम करती हैा होना चाहिए
इस गाइड को अच्छे से पढ़े और जानें कि शुरू से अंत और उससे भी आगे के व्यापार को कैसे कॉपी करें। बुनियादी बातों से लेकर तकनीकी और युक्तियों तक, इस ट्रेडिंग रणनीति को विस्तार से समझाया गया है, ताकि आप पूरी जानकारी।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
सोशल ट्रेडिंग: यह क्या है और इसके जरिए पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं
सोशल ट्रेडिंग- क्या यह फॉरेक्स ट्रेडिंग में एक नया ट्रेंड है या केवल एक बज़वर्ड? क्या यह मुनाफे वाला है? सोशल ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म कौन सा है?
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
सोशल ट्रेडिंग vs. कॉपी ट्रेडिंग
सोशल ट्रेडिंग और कॉपी ट्रेडिंग: दोनों में क्या फर्क है? एक आर्टिकल के ज़रिए समझने में सरल और आसान, फायदे और नुकसान और सबसे बेहतरीन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें