Justmarkets | JUST COMFORTABLE TRADING

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग के लिए एक गाइड

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग के लिए एक गाइड

परिचय

क्या आपने कभी सोचा है कि सभी फॉरेक्स ट्रेडस की प्रचलित संख्या एक दिन की अवधि के भीतर क्यों क्लोज हो जाती है? यह एक फॉरेन एक्सचेंज मार्केट की प्रकृति से निर्धारित होता है। मार्केट अस्थिर है इसलिए लंबे समय तक भविष्यवाणी करना मुश्किल है। यह रोजाना की आर्थिक और राजनीतिक घटनाओं से भी अत्यधिक प्रभावित होता है। आज के लिए सही पूर्वानुमान देना, निस्संदेह कल या अगले सप्ताह के लिए पूर्वानुमान करने से आसान है। यह और नीचे उल्लिखित कुछ और कारक इस सवाल का जवाब देते हैं कि अधिकांश फॉरेक्स ट्रेडर्स तथाकथित डे ट्रेडिंग स्टाइल का पालन क्यों करते हैं।

डे ट्रेडिंग क्या है

जबकि पोजीशन ट्रेडिंग में बड़े टाइम फ्रेम में सेक्यूरिटीस को खरीदना और बेचना शामिल है, डे ट्रेडिंग एक ही दिन के भीतर खोले और क्लोज किए गए शॉर्ट-टर्म ट्रेडस को करने की पद्धति है। पेसिफिक सेशन की शुरुआत में खोला गया और अमेरिकी सेशन में क्लोज हुआ ऑर्डर, तब भी डे ट्रेड माना जाता है। यदि किसी पोजीशन को रात भर (छोटी अवधि के लिए भी) ओपन रखा जाता है, तो उसे डे ट्रेड नहीं कहा जा सकता। इस ट्रेडिंग स्टाइल को कई स्ट्रैटिजीस में अप्लाई किया जा सकता है और फुल-टाइम ट्रेडर्स के लिए पूरी तरह से उपयुक्त है जो पूरे दिन कीमतों को फॉलो करने में समय बिताने के लिए तैयार हैं।

डे ट्रेडिंग एक शॉर्ट-टर्म ट्रेडिंग पद्धति है जिसमें एक ही दिन के अंदर एक ऑर्डर को ओपन और क्लोज करना शामिल है।

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग स्ट्रैटिजीस

अपेक्षाकृत बड़ी मात्रा में ऑर्डर ओपन और क्लोज करके, फॉरेक्स डे ट्रेडर्स लगातार करेंसी के प्राइस मूवमेंट्स का लाभ उठाते हैं। कभी भी ऑर्डर को रात भर ओपन न रखें, उन्हें स्वैप (रोलओवर शुल्क) के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। इंट्राडे ट्रेडर विभिन्न डे ट्रेडिंग फॉरेक्स स्ट्रैटिजीस का उपयोग करते हैं जिसका उद्देश्य शॉर्ट-टर्म मार्केट मूव्स से लाभ प्राप्त करना है। इनमें से प्रत्येक स्ट्रैटिजी दूसरे को वर्जित नहीं करती है; बल्कि, उन्हें अक्सर उच्च आय पाने के लिए मिलाया जाता है।

ट्रेंड ट्रेडिंग

ट्रेंड ट्रेडिंग एक स्ट्रैटिजी है जिसमें लंबी अवधि के चार्ट का विश्लेषण करना और समग्र मार्केट ट्रेंड का पता लगाना शामिल है। सामान्य ट्रेंड को जानने के बाद, एक ट्रेडर मामूली उतार-चढ़ाव का पता लगाने और उसका लाभ उठाने के लिए एक छोटी समय सीमा में चला जाता है। सही प्रवेश/निकास पॉइंट निर्धारित करने के लिए टेक्निकल इन्डकैटर्स काम में आएंगे।

Scalping

फ़ॉरेक्स ट्रेडर्स के बीच Scalping रणनीति बहुत लोकप्रिय है। इसमें ट्रेडर मिनट में आते मूल्य परिवर्तन से लाभ प्राप्त करने के लिए दिन भर में कई ऑर्डर देते है। यह अस्थिर उपकरण में बहुत अच्छा काम करता है। केवल एक ट्रेड से उच्च लाभ नहीं मिलता, इसे लगभग 5-20 पॉइंट प्राप्त होने पर बंद कर दिया जाता है। लेकिन इस तरह के सफल ट्रेडों की बड़ी संख्या प्रभावशाली परिणाम ला सकती है।

फेडिंग

ट्रेंड ट्रेडिंग के समान, फेड (या फेडिंग) स्ट्रैटिजी का मतलब ट्रेंड्स पर स्पेक्यूलैशन से है। फेडिंग स्ट्रैटिजी अपनाने वाले ट्रेडर्स प्रचलित ट्रेंड के विरुद्ध जाते हैं और ट्रेंड रिवर्सल से लाभान्वित होते हैं। एक ट्रेडर एक इंस्ट्रूमेंट बेचता है जब उसकी कीमत बढ़ जाती है और ट्रेंड बदलने से ठीक पहले, जब वह नीचे जाता है तो खरीदता है। इसे मुख्य रूप से प्रमुख आर्थिक घटनाओं के समय में इस्तेमाल किया जाने वाला एक उच्च जोखिम वाला दृष्टिकोण माना जाता है। इसके लिए क्विक रिएक्शन की जरूरत होती है और यदि इसे सही तरीके से लागू किया जाए तो शानदार लाभ का वादा करता है।

रेंज ट्रेडिंग

जो लोग "एक सीमा(रेंज) में ट्रेडिंग"करते हैं, वे जानते हैं कि कीमत आम तौर पर पूरे दिन कैसे काम करती है और अपने फायदे के लिए इसका इस्तेमाल करते है। यदि किसी आर्थिक घटना के बारे में बात न करें, तो प्राइस एक्शन खुद को दोहराता है। किसी इंस्ट्रूमेंट के उच्च और निम्न (सपोर्ट और रिज़िल्यन्स लेवल) को जानने से आप यह अनुमान लगा सकते हैं कि कीमत कब दिशा बदलेगी और उसके अनुसार आप किसी ट्रेड में प्रवेश कर या बाहर निकल सकतें हैं।

मोमेन्टम

मोमेन्टम स्ट्रैटिजी का आइडिया यह है कि एक ट्रेडर एक करेंसी पेयर ढूँढता है जो पहले से ही एक विशेष ट्रेंड दिखाता है और कुछ समय के लिए उसी दिशा में आगे बढ़ने की उम्मीद होती है। उदाहरण के लिए, USD/CAD खरीदना, जब तेल की कीमतों (और कनाडा की करेंसी) में गिरावट होती है।

डेली पिवट

डेली पिवट ट्रेडिंग स्ट्रैटिजी का मतलब दिन की सबसे कम कीमत पर खरीदना और दिन के उच्चतम मूल्य पर बिक्री करना है। उन्हें निर्धारित करने के लिए, ट्रेडर्स पिवट पॉइंट कैलकुलेशन का उपयोग करते हैं।

पिवट पॉइंट शॉर्ट-टर्म ट्रेंड्स और रीवर्सल्स की भविष्यवाणी करने के लिए फॉरेक्स मार्केट में व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला एक बेहतरीन टूल है। हालांकि पिवट पॉइंट्स की गणना के लिए कुछ तरीके हैं, सबसे लोकप्रिय एक 5-पॉइंट सिस्टम के रूप में जाना जाता है। इसमें पिछले दिन के उच्च और निम्न और क्लोज के साथ-साथ दो सपोर्ट लेवल और दो रेसिस्टेंस लेवल शामिल हैं।

जब मार्केट के ट्रेंड्स को समझने और प्रवेश और निकास पॉइंट्स को चुनने की बात आती है, तो इंट्राडे ट्रेडर्स के लिए पिवट पॉइंट आवश्यक होते हैं। बदले में वे सही स्टॉप-लॉस लेवल्स और लाभ लक्ष्यों की पहचान करने में सहायक होते हैं। इसके अलावा, वे दिखाते हैं कि मार्केट में तेजी है या मंदी। यदि ट्रेडिंग पिवट पॉइंट से ऊपर होती है, तो यह चल रही तेजी की भावना को बताता है। इसके विपरीत, पिवट पॉइंट के नीचे प्राइस एक्शन मंदी की भावना का बताता है।

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग के लिए एक गाइड

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग सिस्टम

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग सिस्टम ऐसे टूल्स हैं जो करेंसी डे ट्रेडर्स को करेंसी पेयर्स खरीदने या बेचने के लिए सर्वोत्तम समय का पता लगाने में मदद करते हैं। इनमें टेक्निकल चार्ट के साथ ग्राफिकल इंटरफेस शामिल हैं। इन सिस्टम्स को ऊपर दिए गए सामान्य इंट्राडे स्ट्रैटिजीस के लिए ऑप्टिमाइज़ किया गया है और मोटे तौर पर दो प्रकारों में विभाजित किया गया है: मैनुअल सिस्टम और ऑटमैटिड सिस्टम। एक मैनुअल सिस्टम के लिए एक ट्रेडर्स की भागीदारी (चार्ट मोनिट्रिंग और सिग्नल्स पर प्रतिक्रिया) की बहुत आवश्यकता होती है। एक ऑटमैटिड सिस्टम एक ट्रेडर द्वारा पहले से चुनी गई सेटिंग्स के अनुसार सिग्नल्स पर प्रतिक्रिया करता है।

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग टिप्स

  • बार-बार ट्रेडिंग का मतलब बार-बार प्रवेश लागत है। यही कारण है कि नैरो स्प्रेडस इस दृष्टिकोण को अपनाते समय विशेष रूप से महत्वपूर्ण हैं। आप सब कुछ ठीक कर सकते हैं, लेकिन यदि बिड और आस्क कीमतों के बीच का अंतर बहुत बड़ा है, तो हर बार जब आप ऑर्डर क्लोज करते हैं तो लाभ गायब हो जाएगा।
  • अत्यधिक अस्थिर पेयर्स को ट्रेड करें। यह तेज मार्केट मूव्स ही हैं जो इस ट्रेडिंग स्टाइल को इतना लाभदायक बनाते है। हालांकि कम अस्थिरता सुरक्षित लगती है, लेकिन कीमत के वांछित स्तर तक पहुंचने से पहले आपको घंटों इंतजार करना पड़ सकता है। सबसे अधिक अस्थिर, और इस प्रकार सबसे अच्छा डे ट्रेडिंग करेंसी पेयर्स EUR/USD, GBP/USD, और EUR/JPY को माना जाता है।
  • करेंसी डे ट्रेडिंग एक समय लेने वाला दृष्टिकोण है, और कई ट्रेडर्स इसके बारे में भूल जाते हैं। इस दृष्टिकोण के लिए बहुत अधिक समय और अनुशासन की आवश्यकता होती है। यदि आप इंट्राडे ट्रेडस से कोई महत्वपूर्ण लाभ कमाना चाहते हैं, तो फॉरेक्स को अपनी फुलटाइम नौकरी समझें।
  • प्रमुख आर्थिक घटनाओं पर नजर रखें। उपर्युक्त प्रत्येक स्ट्रैटिजी की सफलता फंडामेंटल विश्लेषण पर आधारित है। इंट्राडे ट्रेडर्स के लिए मैक्रोइकॉनॉमिक न्यूज फॉलो करना जरूरी है।
  • टेक्निकल विश्लेषण किसी भी सचेत ट्रेडिंग निर्णय का आधार होना चाहिए। टेक्निकल इन्डिकैटर मार्केट की दिशा के साथ-साथ सर्वोत्तम प्रवेश और निकास पॉइंट्स की पहचान करने में मदद करेंगे। हमारे दैनिक न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें जो आपको मार्केट के सिग्नल्स को समझने में मदद करेगा।
  • जोखिम प्रबंधन के बारे में नहीं भूलिएगा। नए ट्रेडर्स इसे अनदेखा करते हैं; इसलिए वे अक्सर पैसे खो देते हैं। पहले एक स्वीकार्य जोखिम-इनाम अनुपात पर निर्णय लें और उन डे ट्रेडिंग स्ट्रैटिजीस को लागू करें जो आपके लिए काम करती हैं।

डे ट्रेडिंग कैसे सीखें

एक डेमो अकाउंट खोलकर और पहले वर्चुअल मनी की ट्रेडिंग करके फॉरेक्स को एक्सप्लोर करना शुरू करना बुद्धिमानी है। यदि आप एक नए ट्रेडर हैं, तो एक शिक्षण अकाउंट ही है जिसकी आपको जरूरत है। यह वास्तविक अकाउंट के जैसे ही प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है, रीयल-टाइम स्ट्रीमिंग क्वोट्स दिखाता है, और आपको हारने से रोकता है। एक डेमो अकाउंट का मतलब कोई लाभ प्राप्त करना नहीं है, लेकिन यह आपकी स्ट्रैटिजी के परीक्षण के लिए एक बेहतरीन टूल है।

अपने कौशल में विश्वास रखने वालों के लिए, JustMarkets डे ट्रेडर्स को आकर्षक कन्डिशन्स प्रदान करता है, जिसमें नैरो स्प्रेडस और 0% विथ्ड्रॉअल कमीशन शामिल हैं। एक ट्रेडिंग अकाउंट खोलें और आज ही लाभ कमाएं।

फॉरेक्स डे ट्रेडिंग के लिए एक गाइड

निष्कर्ष

डे ट्रेडिंग एक ट्रेडिंग स्टाइल है जिसका अर्थ है एक ट्रेडिंग को रात भर रखने के बजाय एक ही दिन में ओपन और क्लोज करना। इस दृष्टिकोण का लाभ उठाने के लिए, एक व्यक्तिगत ट्रेडिंग सिस्टम बनाने की सलाह दी जाती है जो आपके लक्ष्यों तक पहुंचने में आपकी सहायता करेगा और जोखिम-इनाम अनुपात, प्रारंभिक निवेश आदि जैसे कारकों द्वारा निर्धारित किया जाएगा। किसी भी महत्वपूर्ण लाभ के लिए डे ट्रेडिंग में बहुत समय और एकाग्रता की आवश्यकता होती है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

डे ट्रेडिंग क्या है?

डे ट्रेडिंग, ट्रेडिंग स्ट्रेटेजीज़ के लिए एक आम शब्द है जिसका मतलब एक ही दिन में ट्रेड्स को ओपन और क्लोज करना होता है।

क्या आप कई सारे प्लेटफॉर्म्स पर डे ट्रेड कर सकते हैं?

हाँ, आप कर सकते हैं। हालाँकि, ट्रेड्स को कंपनी की पॉलिसी और क्लाइंट एग्रीमेंट का खंडन नहीं करना चाहिए; नहीं तो, ऐसे ट्रेड्स को धोखाधड़ी माना जाएगा।

क्या फॉरेक्स डे ट्रेडिंग के लिए एक अच्छा आईडिया है?

हाँ। फोरेक्स एक अत्यधिक अस्थिर मार्केट है। यह ट्रेडर्स को करेंसी की कीमतों के दैनिक उतार-चढ़ाव से प्रॉफिट कमाने में सक्षम बनाता है। यह कारक फोरेक्स मार्केट सहभागियों (पार्टिसिपेंट्स) के बीच डे ट्रेडिंग को मशहूर बनाता है।

फोरेक्स ट्रेडर्स एक दिन में कितने पैसे कमाते हैं?

फोरेक्स मार्केट में दैनिक प्रॉफिट की कोई सीमा नहीं है। प्रॉफिट इस बात पर निर्भर करता है कि आपने कितना निवेश किया है और आपके पास कितना अनुभव है।

क्या आप फोरेक्स ट्रेड करके अमीर बन सकते हैं?

हाँ बिल्कुल। कई अनुभवी ट्रेडर्स के पास हाई-प्रॉफिट ट्रेड्स का एक साबित किया हुआ रिकॉर्ड होता है और वे कर्रेंसीज़ को ट्रेड करके अपनी आजीविका का साधन बनाते हैं।

क्या मैं $100 के साथ फोरेक्स शुरू कर सकता हूँ?

हाँ, आप कर सकते हैं। किसी भी मौजूदा JustMarkets अकाउंट पर ट्रेडिंग करने के लिए $100 की जमा राशि पर्याप्त है।

क्या मैं $5 के साथ फोरेक्स शुरू कर सकता हूँ?

हाँ, आप कर सकते हैं। JustMarkets पर स्टैंडर्ड सेंट और स्टैंडर्ड एकाउंट्स पर कम से कम डिपॉजिट $1 है।

लेखक: JustMarkets, 22.07.2021

पिछले लेख
सभी लेख
कॉपी ट्रेडिंग का परिचय: फॉरेक्स और अन्य बाजारों में कॉपी ट्रेडिंग कैसे काम करती हैा होना चाहिए
इस गाइड को अच्छे से पढ़े और जानें कि शुरू से अंत और उससे भी आगे के व्यापार को कैसे कॉपी करें। बुनियादी बातों से लेकर तकनीकी और युक्तियों तक, इस ट्रेडिंग रणनीति को विस्तार से समझाया गया है, ताकि आप पूरी जानकारी।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
सोशल ट्रेडिंग: यह क्या है और इसके जरिए पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं
सोशल ट्रेडिंग- क्या यह फॉरेक्स ट्रेडिंग में एक नया ट्रेंड है या केवल एक बज़वर्ड? क्या यह मुनाफे वाला है? सोशल ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म कौन सा है?
ज़्यादा जानकारी पढ़ें
सोशल ट्रेडिंग vs. कॉपी ट्रेडिंग
सोशल ट्रेडिंग और कॉपी ट्रेडिंग: दोनों में क्या फर्क है? एक आर्टिकल के ज़रिए समझने में सरल और आसान, फायदे और नुकसान और सबसे बेहतरीन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म।
ज़्यादा जानकारी पढ़ें